Monday, 3 July 2017

पिता ने बेटी का शव देखकर ट्रेन के आगे कूदकर दी जान।

पिता ने बेटी का शव देखकर ट्रेन के आगे कूदकर दी जान।

मुंबई:56 वर्षीय पिता ने अपनी बेटी का शव देखा और उसके कुछ घंटों बाद अपनी जान दे दी। शुक्रवार को पिता ने अपनी 26 वर्षीय तलाकशुदा बेटी का शव पंखे से लटका देखा और उसके बाद विरार स्टेशन पर चलती ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी। बेटी और पिता, दोनों का शनिवार को नालासोपारा में दोपहर को अंतिम संस्कार किया गया।
सूत्रों के मुताबिक, तीन महने पहले हुए डिवॉर्स को लेकर मंजुला नायडू बेहद दुखी रहती थी। डिवॉर्स के बाद वह अपने पिता के घर रहने लगी थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, मंजुला के परिजन चाहते थे कि वह दोबारा शादी करे, लेकिन वह ऐसा नहीं करना चाहती थी। गुरुवार को तबीयत ठीक न होने की वजह से मंजुला डॉक्टर के पास गई थी, उसके पिता ने सोने से पहले दवा लेने के लिए भी कहा था। 
सब सोच रहे थे कि वह कमरे में सो रही है लेकिन देर तक दरवाजा खटखटाने पर जब मंजुला ने दरवाजा नहीं खोला तो सब परेशान हो गए। कारपेंटर को बुलाकर दरवाजा तोड़ा गया तो मंजुला का शव पंखे से लटका मिला। बेटी का शव देखकर मुत्थुकृष्णा टूट गए थे।
मंजुला के भाई जानकीराम ने बताया, 'मेरे पिता मंजुला से बहुत प्यार करते थे, वह उनकी फेवरिट संतान थी। मंजुला से जुड़ी छोटी-सी बात को लेकर भी वह चिंतित हो जाते थे।' परिवार के एक सदस्य ने बताया, मंजुला का शव देखने के बाद पिता मुत्थुकृष्णा ऑटो पकड़कर कहीं चले गए थे और उसके बाद उनके सूइसाइड की खबर आई........                                                                                                          

No comments:

Post a Comment